विश्व रंगमंच दिवस (World Theater Day)

विश्व रंगमंच दिवस (World Theater Day)

9 mins read

विश्व रंगमंच दिवस (WTD) प्रत्येक वर्ष 27 मार्च को मनाया जाता है। सर्वप्रथम वर्ष 1961 में इंटरनेशनल थिएटर इंस्टीट्यूट (International Theater Institute) द्वारा इस दिवस की शुरुआत की गयी थी।

प्रमुख बिंदु 

  • इस अवसर को चिह्नित करने के लिए विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय रंगमच (theater) कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।
  • इनमें से एक सबसे महत्वपूर्ण विश्व रंगमंच दिवस संदेश का प्रचलन है जिसके माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय रंगमंच संस्थान (International Theater Institute) के आमंत्रण पर, रंगमंच और संस्कृति के विषय पर दुनिया के अंश एवं उनके विचारों को साझा करता है।
  • प्रथम विश्व रंगमंच दिवस संदेश जीन कोक्ट्यू (Jean Cocteau) द्वारा वर्ष 1962 में लिखा गया था।
  • अंतर्राष्ट्रीय रंगमंच संस्थान (International Theater Institute) द्वारा विश्व रंगमंच दिवस (World Theater Day) कई और विभिन्न तरीकों से मनाया जाता है, जिसमें अब दुनिया भर में 90 से अधिक देश सम्मिलित हैं।
  • इसके अलावा रंगमंच, रंगमंच कलाकार, रंगमंच प्रेमी, रंगमंच विश्वविद्यालय, अकादमियां और स्कूलों द्वारा भी इसे मनाया जाता हैं।
  • विश्व रंगमंच दिवस (WTD) पर प्रसारित अंतर्राष्ट्रीय संदेश को 50 से अधिक भाषाओं में अनुवादित किया जाता है, जिसे दुनिया भर के सिनेमाघरों में प्रदर्शन से पहले हजारों दर्शकों के लिए पढ़ा जाता है, और सैकड़ों दैनिक समाचार पत्रों में मुद्रित किया जाता है।

विश्व रंगमंच दिवस का उद्देश्य 

  • रंगमंच के सभी रूपों को दुनिया भर में बढ़ावा देना।
  • लोगों को रंगमंच के सभी रूपों  के महत्व से अवगत कराना।
  • व्यापक स्तर पर अपने काम को बढ़ावा देने तथा रंगमंच समुदायों को सक्षम करने के लिए, ताकि सरकारों और नेताओं द्वारा  रंगमंच के सभी रूपों और  महत्व से अवगत हों और इसका समर्थन करें।
  • रंगमंच के आनंद को दूसरों के साथ साझा करना।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous Story

उत्तराखंड आद्य ऐतिहासिक काल के प्रमुख लेख

Next Story

उत्तराखंड में प्रमुख व्यक्तियों के नाम एवं उपनाम

error: Content is protected !!