दादरा और नगर हवेली एवं दमन और दीव (केंद्र शासित प्रदेशों का विलय) विधेयक, 2019

Daman and Diu and Dadra and Nagar Haveli

Daman and Diu and Dadra and Nagar Haveli

हाल ही में, दमन और दीव (D&D) एवं दादरा और नगर हवेली (DNH) के केंद्र शासित प्रदेशों (UTs) को एक प्रदेश बनाने हेतु लोकसभा में एक विधेयक पेश किया गया है। जिसका उद्देश्य दक्षता में सुधार और कागजी कार्रवाई को कम करके दोनों केंद्र शासित प्रदेशों के नागरिकों की बेहतर सेवा प्रदान करना है।

प्रमुख बिंदु

  • दोनों संघ शासित प्रदेशों में दो अलग-अलग संवैधानिक और प्रशासनिक निकाय हैं ।
  • विलय से न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन (minimum government, maximum governance) के लिए सरकार के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद मिलेगी।
  • दोनों की छोटी आबादी और सीमित भौगोलिक क्षेत्र है इसलिए विलय चुनौतीपूर्ण नहीं होगा और अधिकारियों की सेवाओं का कुशलता से उपयोग किया जाएगा।
  • यह कदम जम्मू और कश्मीर राज्य को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के ऐतिहासिक फैसले के बाद आया है।

दमन और दीव एवं दादरा और नगर हवेली

  • ये दो केन्द्र शासित प्रदेश भारत के पश्चिमी क्षेत्र में स्थित हैं।
  • दमन और दीव गुजरात के दक्षिणी भाग में स्थित दो व्यापक रूप से अलग जिले हैं। दमन गुजरात के दक्षिणी तट पर एक एन्क्लेव है और दीव गुजरात के काठियावाड़ प्रायद्वीप के दक्षिणी तट में स्थित एक द्वीप है।
  • दादरा और नगर हवेली में दो अलग-अलग हिस्से हैं। दादरा गुजरात राज्य से घिरा है और नगर हवेली महाराष्ट्र और गुजरात की सीमाओं पर स्थित है।
  • दोनों को पुर्तगालियों के उपनिवेश थे और दिसंबर 1961 ई. में इन्हें आजाद कर दिया गया।
  • 1987 में, जब गोवा को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला, तो दमन और दीव को गोवा, से अलग कर एक केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *