raja ravi verma

राजा रवि वर्मा (Raja Ravi Verma)

14 mins read

प्रत्येक वर्ष 29 अप्रैल को प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार राजा रवि वर्मा (1848-1906) की जयंती के रूप में मनाया जाता है।

प्रमुख बिंदु

प्रारंभिक जीवन और प्रशिक्षण:

  • राजा रवि वर्मा का जन्म 1848 त्रावणकोर (केरल) में एक कुलीन परिवार में हुआ था।
  • 14 वर्ष की आयु में, उन्हें त्रावणकोर के तत्कालीन शासक अयिलम थिरुनल का संरक्षण हुआ, और शाही चित्रकार रामास्वामी नायडू से जलरंगों (watercolours) का प्रशिक्षण प्राप्त किया।

योगदान:

  • उन्होंने 7,000 पेंटिंग बनाई।
  • राजा रवि वर्मा ने हिंदू पौराणिक कथाओं को चित्रित करने के अतिरिक्त कई भारतीयों के साथ-साथ यूरोपीय लोगों को भी पेंटिंग बनाई।.
  • रवि वर्मा ने चित्र (Portrait) और परिदृश्य (Landscape) दोनों प्रकार के चित्रों पर काम किया। उन्हें ऑइल पेंट (oil paint) का उपयोग करने वाले पहले भारतीय कलाकारों में से एक माना जाता है।
  • उन्हें भारत में यूरोपीय स्कूल ऑफ पेंटिंग (European school of painting) का सबसे महत्वपूर्ण प्रतिनिधि माना जाता है।

लिथोग्राफिक प्रेस (Lithographic press)

  • उन्होंने लिथोग्राफिक प्रेस (Lithographic press) का उपयोग कर अपने कार्य में महारत हासिल कि, जिसके माध्यम से उनके चित्र दूर-दूर तक फैल गए।
  • लिथोग्राफिक प्रेस (Lithographic press) मुद्रण आधारित एक विधि है, जो तेल (Oil) और पानी (Water) को मिश्रित ना करने के सिद्धांत पर आधारित हैं।
  • उनकी पेंटिंग को पहले जर्मनी और ऑस्ट्रिया में लिथोग्राफी (lithography) के लिए भेजा गया था।
  • राजा रवि वर्मा द्वारा महाराष्ट्र में अपनी प्रिंटिंग प्रेस की स्थापना की गयी थी – पहले घाटकोपर में और बाद में वर्ष 1894 में लोनावाला में।
  • अपने प्रिंटिंग प्रेस के माध्यम से, रवि वर्मा के चित्रों को श्रमिक वर्ग के घरों में प्रार्थना के लिए प्रयोग किया जाने लगा।

राजा रवि वर्मा की प्रसिद्ध कृतियाँ

  • दमयंती की हंस से बात करती हुई पेंटिंग (Damayanti’s painting talking to Hans)
  • नायर महिला अपने बालों को सजाती हुई।
  • शांतनु और मत्स्यगंधा।
  • शकुंतला राजा दुष्यंतास प्रेम-पत्र लिहीताना

Note: 

  • वर्ष 2007 में राजा रवि वर्मा द्वारा निर्मित पेंटिंग जिसमें त्रावणकोर के महाराज व उनके भाई को मद्रास के गवर्नर जनरल रिचर्ड टेम्पल ग्रेनविले (Richard Temple Grenville) का स्वागत करते हुए दिखाया गया है, 1.24 मिलियन डॉलर में बिकी थी।  
  • केतन मेहता द्वारा राजा रवि वर्मा के जीवन पर आधारित फिल्म का निर्माण किया गया था, जिसका नाम रंग रसिया (Color of Passions) है। इस फिल्म में मुख्य भूमिका में अभिनेता रणदीप हुड्डा (राजा रवि वर्मा) तथा अभिनेत्री नंदना सेन है

पुरस्कार और सम्मान 

  • 1904 में, ब्रिटिश औपनिवेशिक सरकार द्वारा राजा रवि वर्मा को कैसर-ए-हिंद गोल्ड मेडल (Kaiser-i-Hind Gold Medal) से सम्मानित किया।
  • वर्ष 2013 में, बुध ग्रह (Mercury Planet) में खोजे गए एक गड्ढा (crater) का नाम उनके सम्मान में रखा गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!