राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस (National Security Day)

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस 2020 (National Security Day)

25 mins read

प्रत्येक वर्ष 4 मार्च को राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस के रूप में मनाया जाता है, जिसके उद्देश्य निम्नलिखित है–

  • सुरक्षा बलों के कार्यों की सराहना करना, जो भारत में शांति और सुरक्षा बनाए रखने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं।
  • यह दिन पुलिसकर्मियों, अर्धसैनिक बलों, कमांडो, गार्ड, सेना के अधिकारियों, और अन्य सुरक्षा बलों में शामिल सभी व्यक्तियों का आभार व्यक्त करने के लिए मनाया जाता है।

राष्ट्रीय सुरक्षा क्या है?

राष्ट्रीय सुरक्षा एक राष्ट्र या देश की सुरक्षा और रक्षा है। इसके अंतर्गत नागरिकों की सुरक्षा, संस्थानों और एक राष्ट्र की आर्थिक सुरक्षा शामिल है।

प्राकृतिक आपदाओं का प्रभाव भी राष्ट्रीय सुरक्षा के अंतर्गत भी आता है।

राष्ट्रीय सुरक्षा भारत सरकार के कर्तव्यों के अंतर्गत आती है। परंपरागत रूप से राष्ट्रीय सुरक्षा को सैन्य हमले के खिलाफ संरक्षण के रूप में माना जाता है, अब इसमें अन्य गैर-सैन्य आयाम भी शामिल हैं, जैसे आतंकवाद से सुरक्षा, आर्थिक सुरक्षा, ऊर्जा की सुरक्षा, पर्यावरण सुरक्षा, अपराध को कम करना, खाद्य सुरक्षा, साइबर-सुरक्षा, आदि।

4 मार्च ही क्यों?

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस 4 मार्च को व्यापक रूप से मनाया जाता है क्योंकि इसी दिन भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (National Security Council – NSC) की स्थापना की गई थी।

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (National Security Council – NSC) एक गैर-लाभकारी संस्था है, जिसका उद्देश्य हर प्रकार की दुर्घटनाओं और आपदाओं से उत्पन्न होने वाली मानव पीड़ा और आर्थिक नुकसान को रोकने और कम करने के लिए उचित नीतियों और प्रक्रियाओं को अपनाया जा सके।

सुरक्षा भारत के महत्वपूर्ण हिस्सों में से एक बन गई है, क्योंकि भारत एक बड़ा देश है और चीन के बाद दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है।

भारत विभिन्न विरासतों, भाषाओं और धर्मों में समृद्ध है, यानी भारत एक ऐसा राष्ट्र है, जहाँ आप विभिन्न धर्मों के अनुयायी रहते है। यह हिंदू, मुस्लिम, पारसी, जैन, सिख, ईसाई आदि विभिन्न धर्मों के लोगों के अंतर्गत आता है। अलग-अलग धर्मों के साथ, इसमें कई उत्सव और त्योहार भी शामिल हैं। विशेष रूप से त्योहारों या आयोजनों में राष्ट्र की सुरक्षा के लिए सभी सुरक्षा बल हमेशा अपने कर्तव्य पर होते हैं ताकि विभिन्न अवांछित घटनाओं से लोगों की रक्षा की जा सके।

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस (National Security Day) को पुलिस, कमांडो और अन्य सुरक्षा बलों जैसे सुरक्षा बलों के काम की सराहना करने के लिए मनाया जाता है।

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस का उद्देश्य

  • सुरक्षा बलों को बढ़ावा देना जो राष्ट्र के लिए लगातार काम कर रहे हैं।
  • लोगों को देश के प्रति उनके व्यक्तिगत कर्तव्यों के बारे में याद दिलाएं।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात, देश को बचाने के दौरान शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देना।

राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रकार

  • राजनीतिक सुरक्षा
  • आर्थिक सुरक्षा
  • पारिस्थितिक सुरक्षा
  • ऊर्जा और प्राकृतिक संसाधनों की सुरक्षा
  • कंप्यूटर सुरक्षा
  • अवसंरचना सुरक्षा

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस का महत्व

  • राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस उन सभी संस्थाओं व सुरक्षा बलों को समर्पित है जो देश की सुरक्षा के लिए काम करते हैं।
  • भारत के पास दुनिया में तीसरी सबसे बड़ी सेना है। वर्तमान में भारतीय सेना में 1.3 मिलियन से अधिक कर्मचारी है।
  • वर्ष 2017- 2018 के लिए, भारत का रक्षा बजट 22.74 लाख करोड़ रुपये है।
  • राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (NSC), मुख्य एजेंसी है जो देश की राजनीतिक, आर्थिक, ऊर्जा और रणनीतिक सुरक्षा से संबंधित है।
  • भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, अजीत कुमार डोभाल, राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (NSC) के मुख्य कार्यकारी और प्राथमिक सलाहकार हैं, जो राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित मुद्दों के लिए  प्रधानमंत्री के सलाहकार हैं।
  • Research and Analysis Wing (RAW) और इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को रिपोर्ट करता है।
  • भारत में  विभिन्न धर्मों के अनुयायी रहते हैं। विशेष रूप से, भारत किसी भी धर्म, हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई और अन्य लोगों के अनुसरण का है।
  • राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस प्रत्येक व्यक्ति को राष्ट्र के प्रति उनकी व्यक्तिगत जिम्मेदारियों के बारे में याद दिलाने के लिए मनाया जाता है। साथ ही, यह दिन उन जवानों को भी समर्पित है, जो देश की रक्षा और शांति के लिए देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए।

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस – 4 मार्च, 2020

  • 2019-20 के लिए भारत का रक्षा बजट Rs.3, 38, 569 करोड़ है जो सरकार के कुल पूंजीगत व्यय का लगभग 31% है।
  • ‘ऑपरेशन राहत’, वर्ष 2013 उत्तराखंड बाढ़ के दौरान, नागरिको के बचाव के लिए चलाए गए दुनिया के सबसे बड़े अभियानों में से एक था।
  • राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (NSC), का गठन 19 नवंबर, 1998 को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा स्थापित की गई थी।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!