आम के फलों से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य

आम (Mango)

13 mins read
  • वानस्पतिक नाम – मेन्जीफेरा इण्डिका
  • कुल – एनाकार्डिएसी (Anacardiaceae)
  • जाति  – इंडिका (indica)
  • प्रजाति – मैंगिफ़ेरा (Mangifera)
  • मूल स्थान – इण्डो-बर्मा क्षेत्र

आम (Mango) को भारत का राष्ट्रीय फल घोषित किया गया है, इसे “फलों का राजा” भी कहा जाता है।

आम का पेड़ एक उभयलिंगी (bisexual) पौधा होता है, अर्थात इसमें नर और मादा दोनों तरह के फूल होते हैं। इसके फल विटामिन A व C के उत्तम स्रोत हैं।

आम के प्रवर्धन के लिए मुख्यत: 2 विधियों का प्रयोग किया जाता है –

  1. विनियर ग्राफ्टिंग (कलम बांधना)
  2. इनार्किंग (कलम)

आम के फलों की प्रमुख प्रजातियां 

आम्रपाली (Amrapali) – आम की इस प्रजाति का विकास दशहरी एवं नीलम के क्रास से भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (IARI – New Delhi) द्वारा किया गया है। इस प्रजाति की ऊंचाई कम होती हैं, तथा इनमें कैरोटीन (carotene) की अधिक  मात्रा पायी जाती है। इस प्रजाति के प्रति हेक्टेयर, 1600 पौधे लगाए जाते हैं।

मल्लिका – आम की इस प्रजाति का विकास भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (IARI – New Delhi) द्वारा किया गया है। यह प्रजाति गुच्छा रोग से प्रभावित होती है।

सिन्धु – आम की इस प्रजाति को रत्ना व अल्फांसो आम के क्रॉस से महाराष्ट्र के डपोडी नामक स्थान पर विकसित किया गया है। सिन्धु आम विश्व की एकमात्र बीजरहित (Seedless) प्रजाति है।

निरंजन – यह आम की एक बेमौसमी (Off Season) प्रजाति है।

लंगड़ा – आम की इस प्रजाति की कृषि मुख्यत: उत्तर प्रदेश तथा बिहार में की जाती  है। इस प्रजाति में विटामिन C प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

नीलम आम – यह आम की एक लोकप्रिय प्रजाति है, जो दक्षिण भारत में एक वर्ष में दो बार फल देती है।

अरूणिका – यह आम की हाइब्रिड प्रजाति है, जिसे आम्रपाली व वनराज आम के  क्रॉस से विकसित किया गया है।

विटामिन C एवं कैरोटीन के स्रोत वाली आम की नवीनतम प्रजातियां – पूसा श्रेष्ठ, पूसा प्रतिमा, पूसा लालिमा एवं पूसा पीताम्बर आदि।

भारत द्वारा आम की हापुस (अल्फांसो), केसर एवं गुलाबखास प्रजातियों का निर्यात अधिक मात्रा में किया जाता हैं।

आम के फलों के प्रमुख रोग व कीट 

  1. गुच्छा (Mango Malformation)
  2. स्पंजी ऊतक (Spongy Tissue)
  3. एकान्तरित फलन (Alternate Bearing)
  4. बोरान की कमी के कारण आम के फलों में आन्तरिक ऊतक क्षय रोग उत्पन्न होता हैI
  5. मिली बग (Mealy Bug) आम के पौधों में लगने वाला का प्रमुख हानिकारक कीट है।

Note:

  • भारत, विश्व में आम का सबसे बड़ा उत्पादक व निर्यातक देश है।
  • कन्याकुमारी (तमिलनाडु) में प्रतिवर्ष आम की दो फसलें होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!