पंवार वंश से संबंधित प्रमुख शब्दावलियां

शब्दपरिभाषा
टीकापंवार (परमार) वंश में युवराज को टीका कहा जाता था।
रजबारराजा को रजबार कहा जाता था।
नरेशयह राज्य का सर्वोच्च अधिकारी होता था।
मुखतारयह राज्य का सर्वोच मन्त्री होता था।
थोकदारयह परगना का प्रशासक होता था।
पट्टीयह परगना की सबसे छोटी इकाई होती थी।
रूढ़याबांस व रिंगाल के बर्तन को बनाने वाले को रूढ़या कहाँ जाता था।
चिम्यारकाष्ठ भाण्ड बनाने को चिम्यार कहा जाता था।
औझीवस्त्र सिलने को औझी कहा जाता था।
कलालशराब बनाने को कलाल कहा जाता था।
मुट्ठीयह भूमि माप की सबसे छोटी इकाई थी।
ज्यूलायह भूमि माप की सबसे बड़ी इकाई थी।
श्रीनगरयहाँ पंवार कालीन टकसाल स्थित है।
एक तिमासीयह 10 टका के बराबर था।
एक गढ़वाली रूपयायह 40 टका के बराबर था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *