matter

द्रव्यों से संबंधित प्रमुख सिद्धान्त

6 mins read

matter

घनत्व (Density)

किसी वस्तु के इकाई आयतन का जितना द्रव्यमान (mass) होता है, उसे उस पदार्थ (matter) का घनत्व (Density) कहा जाता है। विभिन्न द्रव्यों का घनत्व (Density) भी भिन्न-भिन्न होता है। अधिक घनत्व (Density) वाली वस्तुएँ भारी जबकि कम घनत्व वाले वस्तुएँ हल्की होती हैं।

ठोसों पदार्थो (solids material) का घनत्व (Density) द्रव एवं गैसीय पदार्थों की तुलना में अधिक होता है तथा द्रव्यों (matter) की तीनों अवस्थाओं में गैसीय पदार्थों का घनत्व (Density) सबसे कम होता है।

आपेक्षिक घनत्व (Relative density)

किसी दो वस्तुओं के घनत्व का अनुपात को उनका आपेक्षिक घनत्व (Relative density) कहते है।

विशिष्ट घनत्व (Specific density)

किसी वस्तु के विशिष्ट घनत्व (Specific density) का अर्थ है कि वह वस्तु समान आयतन वाले शुद्ध जल (4°C तापक्रम पर) की अपेक्षा कितनी भारी या हल्की है।

सापेक्षवाद का सिद्धान्त (Theory of relativity)

सापेक्षवाद के सिद्धान्त (Theory of relativity) का प्रतिपादन अल्बर्ट आईन्स्टाइन (Albert Einstein) द्वारा किया गया। इस सिद्धान्त के अनुसार –

1. दिक्क व काल एक-दूसरे पर निर्भर तथा पूर्णतया आपस में जुड़े हुए होते हैं।

2. दो वस्तुओं के मध्य दिक्क व स्थान का अंतराल और दो घटनाओं के मध्य समय का अंतराल सापेक्ष होता है।

3. द्रव्य (matter) और ऊर्जा (energy) मूलतः एक ही हैं और इन्हें एक रूप से दूसरे रूप में परिवर्तित किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!