अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day)

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day)

24 mins read

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day – IWD) प्रत्येक वर्ष 8 मार्च को मनाया जाता है। यह महिलाओं के अधिकारों के लिए आंदोलन का केंद्र बिंदु है।

  • अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च 2020) के लिए इस वर्ष की थीम है, “I am Generation Equality: Realizing Women’s Rights”.

सर्वप्रथम 28 फरवरी, 1909 को Socialist Party of America द्वारा न्यूयॉर्क शहर में महिला दिवस का आयोजन किया गया।

जर्मन क्रांतिकारी क्लारा ज़ेटकिन (Clara Zetkin) ने वर्ष 1910 के अंतर्राष्ट्रीय समाजवादी महिला सम्मेलन में प्रस्ताव रखा कि प्रत्येक वर्ष 8 मार्च को कामकाजी महिलाओं के सम्मान में इस दिवस का आयोजन किया जाए। इस दिन को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) या अंतर्राष्ट्रीय कामकाजी महिला दिवस (International Working Women’s Day) के रूप में मनाया जाता है।

1917 में सोवियत रूस में महिलाओं के अत्याचार बढ़ने के बाद, 8 मार्च को वहां राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया गया। यह दिन मुख्य रूप से समाजवादी आंदोलन और साम्यवादी देशों द्वारा मनाया गया जब तक कि इसे लगभग 1967 में नारीवादी आंदोलन (feminist movement) के रूप में नहीं अपनाया गया।

संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 1975 से 8 मार्च को में महिला दिवस के रूप में मनाना शुरू किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की विशेष स्मृतियाँ 

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2020

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च 2020) के लिए इस वर्ष की थीम है, “I am Generation Equality: Realizing Women’s Rights”.

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2019

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2019 के लिए संयुक्त राष्ट्र की थीम : ‘Think equal, build smart, innovate for change’। इस विषय का उद्देश्य उन नए तरीकों पर था, जिससे लैंगिक समानता (gender equality) और महिलाओं के सशक्तीकरण (women’s empowerment) को आगे बढ़ाया जा सके, विशेष रूप से सामाजिक सुरक्षा प्रणालियों के क्षेत्रों में, सार्वजनिक सेवाओं और स्थायी बुनियादी ढांचे तक।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2017

  • वर्ष 2017 में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के समर्थन संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (Antonio Guterres) ने टिप्पणी की कि महिलाओं के अधिकारों को कैसे “कम और प्रतिबंधित ” किया जा रहा है।
  •  संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (Antonio Guterres) ने लिंग भेद को कम करने के लिए, “सभी स्तरों पर महिलाओं को सशक्त बनाने, उनकी आवाज़ को सुनने और उन्हें अपने स्वयं के जीवन पर और हमारी दुनिया के भविष्य पर नियंत्रण देने के लिए सक्षम करके” बदलाव का आह्वान किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2015

बीजिंग घोषणापत्र (Beijing Declaration) की 20 वी वर्षगांठ पर एक ऐतिहासिक रोडमैप तैयार किया गया है जिसने महिलाओं के अधिकारों को सुरक्षित करने के लिए एजेंडा निर्धारित किया है।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2016

  • भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने कहा: “अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर, मैं भारत की महिलाओं को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ देता हूँ और हमारे राष्ट्र के निर्माण में वर्षों से उनके योगदान के लिए उन्हें धन्यवाद देता हूँ।
  • अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर एयर इंडिया ने दुनिया की सबसे लंबी नॉन-स्टॉप उड़ान भरने का दावा किया, जिसका संपूर्ण संचालन महिलाओं द्वारा किया गया था। महिलाओं के इस दल ने दिल्ली से सैन फ्रांसिस्को (14,500 किलोमीटर) तक की दूरी को लगभग 17 घंटे में पूर्ण किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2014

अमेरिकी गायिका बेयोंसे (Beyoncé) ने अपने YouTube Account से एक अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2014 के अवसर पर महिलाओं के समर्थन में वीडियो भी पोस्ट किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2013

वर्ष 2017 में अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस समिति (ICRC) ने जेल में महिलाओं की दुर्दशा पर ध्यान आकर्षित किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2012

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2012 के अवसर पर, ICRC ने सशस्त्र संघर्ष के दौरान लापता हुए लोगों की माताओं और पत्नियों की मदद के लिए और अधिक सहायता करने का आह्वान किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2011

  • अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की 100 वीं वर्षगांठ मनाने के लिए 8 मार्च, 2011 को 100 से अधिक देशों में कार्यक्रम हुए। संयुक्त राज्य अमेरिका में, राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मार्च 2011 को “महिला इतिहास माह (Women’s History Month)” घोषित किया।
  • ऑस्ट्रेलिया ने एक अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (IWD) 100 वीं वर्षगांठ स्मारक 20 cent का सिक्का जारी किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस – 2010

2010 के अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस समिति (International Committee of the Red Cross – ICRC) ने महिलाओं पर विस्थापन के कारण होने वाले कष्टों की ओर ध्यान आकर्षित किया। जनसँख्या का विस्थापन वर्तमान के सशस्त्र संघर्षों के सबसे गंभीर परिणामों में से एक है। यह कई तरीकों से महिलाओं को प्रभावित करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!