उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य

उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य (Part 30)

6 mins read

सलाणी बोली उत्तराखंड के पौड़ी जिले में बोली जाती है।

धनपुरिया बोली उत्तराखंड के चमोली जिले में बोली जाती है।

बिसोई ग्राम (जौनसार) के प्रथम समाज सेवी केदार सिंह थे।

पंच बदरी के अंतर्गत आने वाले मंदिर – श्री बदरीनाथ धाम, वृद्ध बदरी, योग बदरी/ ध्यान बद्री, भविष्य बदरी, आदि बदरी

शक्ति समाचार पत्र का प्रकाशन 15 सितम्बर 1918 से शुरू हुआ था।

वर्ष 1918 में गढ़वाल कांग्रेस कमेटी की स्थापना हुई थी।

वर्ष 1914 में अल्मोड़ा होमरूल लीग की स्थापना हुई थी।

भवानी दत्त उनियाल द्वारा शैमियर नाट्य क्लब (टिहरी) की स्थापना की स्थापना की गयी थी।

असुर चुला मंदिर उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में स्थित है।

नौटूगिया भवन, उत्तराखंड का एक ऐतिहासिक स्थल है, जो चंपावत जिले में स्थित है।

जिम कार्बेट ने अपनी पुस्तक मैन ईटर्स ऑफ़ कुमाऊँ (Man-Eaters of Kumaon) में देवीधुरा (चंपावत) में होने वाले पाषाण युद्ध का वर्णन किया है।

भागीरथी नदी के किनारे पर भैरोंघाटी और लंका नामक स्थान स्थित है।

वर्ष 2016 में कॉमन पीकॉक (Common Peacock) को राज्य तितली (Butterfly) घोषित किया गया था।

सुन्दर लाल बहुगुणा द्वारा रिचर्ड सेंटर बार्ब बेकर (Richard Center Barb Baker) पुस्तक की रचना की गयी।

लखपत सिंह रावत को वर्तमान का जिम कार्बेट के नाम से जाना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!