panchawser dam uttarakhand

Daily Current Affairs 15 feb 2018 – PIB & News Analysis

10 mins read

 सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय 

  • केंद्रीय बजट 2018-19 के लिए सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के बजट प्रावधान में 12.10 प्रतिशत की वृद्धि की गई हैं।
  •  पहली बार नशे से पीड़ित व्यक्तियों की पहचान के लिए राष्ट्रीय सर्वेक्षण किया जा रहा है। यह सर्वेक्षण 185 जिले, 1.5 लाख घरों और 6 लाख व्यक्तियों पर किया जाएगा।
  • अन्य पिछडे वर्गों के लिए मैट्रिक पूर्व छात्रवृति में आय की सीमा 44,500 रूपये बढ़ाकर 2.5 लाख प्रतिवर्ष की गयी हैं।

मार्स  रोवर  (MARS Rover Mission) – 2020

mars rover mission

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा द्वारा मंगल ग्रह से आए उल्कापिंड एसयू008 के एक बड़े भाग को पुन: मंगल की सतह पर भेजने की तैयारी की जा रही है।

मुख्य तथ्य

लॉन्चः जुलाई / अगस्त 2020

लैंडिंग: फरवरी 2021

मिशन अवधि: कम से कम एक मंगल वर्ष (लगभग 687 पृथ्वी दिवस)

वर्तमान योजना चरण:

  • प्री-लॉन्च क्रियाएँ
  • लैंडिंग साइट चयन

उत्तराखंड पंचेश्वर बांध : वनों का संकट

panchawser dam uttarakhand

यह किसी विडंबना से कम नहीं है कि देश को स्वच्छ पर्यावरण उपलब्ध कराने के लिये अधिक-से-अधिक वनावरण पर बल देने वाले उत्तराखंड के पास वर्तमान में और वन लगाने के लिये कोई भूमि नहीं बची है। ऐसे में प्रस्तावित पंचेश्वर बांध की जद में आने वाले पेड़ों की प्रतिपूर्ति के लिए जंगल उगाने को दूसरे राज्य में जमीन तलाशी जा रही है,  इसके लिये उत्तर प्रदेश से लेकर कर्नाटक तक संपर्क किया जा रहा है।

पंचेश्वर बांध परियोजना

  • नेपाल और भारत  (उत्तराखंड ) की सीमा पर  पंचेश्वर बांध का निर्माण शारदा नदी पर किया जा रहा है।
  • पंचेश्वर बांध की ऊँचाई 315 meter है और इससे तकरीबन 5040 मेगावॉट बिजली प्राप्त होने की संभावना है। इस परियोजना 40 हज़ार करोड़ रुपए की लागत है।
  • इस परियोजना हेतु उत्तराखंड में लगभग 9100 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण की जाएगी।
  • यह परियोजना  5040 मेगावॉट की दक्षिण एशिया की सबसे बड़ी जल विद्युत परियोजना है।

Source : PIB & Danik Jagran

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!