CTET September 2016 – Paper – I (Child Development and Pedagogy) Answer Key

CTET September 2016 – Paper – I (Child Development and Pedagogy) Answer Key

62 mins read

16. कोई शिक्षिका अपने विद्यार्थियों को अध्ययन में करने हेतु आंतरिक रूप से उत्प्रेरित करने के लिए कर सकती है?
A. उनमें चिंता और डर पैदा करके
B. प्रतियोगितात्मक परीक्षण से
C. व्यक्तिगत लक्ष्य निर्धारित करने और उनमें निपुणता पाने में उन्हें मदद देकर
D. साफ दिखाई पड़ने वाले इनाम देकर, जैसे-टॉफी

17. किसी प्रारंभिक कक्षा में प्रभावशाली शिक्षक का उद्देश्य विद्यार्थियों को उप्रेरित करना होगाः
A सीखने के लिए जिससे वे जिज्ञासु बनें और सोखने के लित ही सीखना पसंद करें
B. रटकर याद करने के लिए जिससे वे प्रत्यास्मरण करने में अच्छे बनें
C. दंडात्मक उपायों का प्रयोग करके जिससे ये शिक्षक का सम्मान करें
D. ऐसे काम करने के लिए जिससे परीक्षा के अंत में वे अच्छे अंक पा सकें

18. निम्नलिखित में से कौन-सा उदाहरण प्रभावशाली विद्यालय की प्रथा का है?
A. निरंतर तुलनात्मक मूल्यांकन
B. शारीरिक दंड
C. व्यक्तिसापेक्ष अधिगम
D. प्रतियोगितात्मक कक्षा

19. विकास का शिरःपदाभिमुख दिशा सिद्धांत व्याख्या करता है कि विकास इस प्रकार आगे बढ़ता है:
A. सामान्य से विशिष्ट कार्यों की ओर
B. भिन्न से एकीकृत कार्यों की ओर
C. सिर से पैर की ओर
D. ग्रामीण से शहरी क्षेत्रों की ओर

20. भाषा विकास के लिए सबसे संवेदनशील समय निम्नलिखित में से कीन-सा है?
A. जन्मपूर्व का समय
B. मध्य बचपन का समय
C. वयस्कावस्था
D. प्रारंभिक बचपन का समय

21. एक 6 वर्ष की लड़की खेलकद में असाधारण योग्यता का प्रदर्शन करती है। उसके माता-पिता दोनों ही खिलाड़ी हैं, उसे नित्य प्रशिक्षण प्राप्त करने भेजते हैं और सप्ताहांत में उसे प्रशिक्षण देते हैं। बहुत संभव है कि उसकी क्षमताएँ निम्नलिखित दोनों के बीच परस्पर प्रतिक्रिया का परिणाम होंगीः
A. आनुवंशिकता और पर्यावरण
B. वृद्धि और विकास
C. स्वास्थ्य और प्रशिक्षण
D. अनुशासन और पौष्टिकता

22. निम्नलिखित में कौन-सी समाजीकरण के गौण वाहक हो सकते हैं?
A. परिवार और पास-पड़ोस
B. विद्यालय और पास-पड़ोस
C. विद्यालय और निकटतम परिवार के सदस्य
D. परिवार और रिश्तेदार

23. लेब वाइगोत्स्की के अनुसार संज्ञानात्मक विकास का मूल कारण
A. संतुलन
B. सामाजिक अन्योन्यक्रिया
C. मानसिक प्रारूपों (स्कीमाज) का समायोजन
D. उद्दीपक-अनुक्रिया युग्मन

24. किसी बच्चे का दिया गया विशिष्ट उत्तर कोलबर्ग के नैतिक तर्क के सोपानों की विषयवस्तु के किस सोपान के अंतर्गत आएगा? “यदि आप ईमानदार हैं, तो आपके माता-पिता आप पर गर्व करेंगे। इसलिए आपको ईमानदार रहना चाहिए।”
A. दंड-आज्ञाकारिता अनुकूलन
B. सामाजिक संकुचन अनुकूलन
C. अच्छी लड़की-अच्छा लड़का अनुकूलन ‘
D. कानून और व्यवस्था अनुकूलन

25. जीन पियाजे के अनुसार अधिगम के लिए निम्नलिखित में से क्या आवश्यक है।
A. शिक्षार्थी के द्वारा पर्यावरण की सक्रिय खोजबीन
B. वयस्कों के व्यवहार का अवलोकन
C. ईश्वरीय न्याय पर विश्वास
D. शिक्षकों और माता-पिता द्वारा पुनर्बलन

26. जीन पियाजे के अनुसार प्रारूप (स्कीमा) निर्माण वर्तमान योजनाओं के अनुरूप बनाने हेतु नवीन जानकारी में संशोधन और नवीन जानकारी के आधार पर पुरानी योजनाओं में संशोधन के परिणाम के रूप में घटित होता है। इन दो प्रक्रियाओं को जाना जाता है:
A. समायोजन और अनुकूलन के रूप में
B. समावेशन और अनुकूलन के रूप में
C. साम्यीकरण और संशोधन के रूप में
D. समावेशन और समायोजन के रूप में

27. किसी प्रगतिशील कक्षा की व्यवस्था में शिक्षक एक ऐसे वातावरण को उपलब्ध कराकर अधिगम को सुगम बनाता है, जोः
A. खोज को प्रोत्साहन देता है
B. नियामक है
C. समावेशन को हतोत्साहित करता है
D. आवृत्ति को बढ़ावा देता है

28. होंबई गार्डनर का यहबुद्धि सिद्धांत सुझाता है किः
A. हर बच्चे को प्रत्येक विषय आठ भिन्न तरीकों से पढ़ाया जाना चाहिए ताकि सभी बुद्धियाँ विकसित हों
B. बुद्धि को केवल बुद्धिलब्धि परीक्षा से ही निर्धारित किया जा सकता है
C. शिक्षक को चाहिए कि विषयवस्तु को वैकल्पिक विधियों से पढ़ाने के लिए बहुबुद्धियों को एक रूपरेखा की तरह ग्रहण करे
D. क्षमता भाग्य है और एक अवधि के भीतर नहीं बदलती

29. कोई 5 साल की लड़की एक टी-शर्ट को तह करते हुए अपने आप से बात करती है। लड़की द्वारा प्रदर्शित व्यवहार के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही है?
A. जीन पियाजे और लेव बाइगोत्स्की इसकी व्याख्या बच्चे के विचारों की अहंकेंद्रित प्रकृति के रूप में करेंगे।
B. जीन पियाजे इसे अहंकोंद्रेत भाषा कहेगा और लेव बाइगोत्स्की इसकी व्याख्या बच्चे के द्वारा निजी भाषा से अपनी क्रियाओं को नियमित करने के प्रयासों के रूप में करेगा।
C. जीन पियाजे इसकी व्याख्या सामाजिक अन्योन्यक्रिया के रूप में करेगा और लेव. वाइगोत्स्की इसे खोजबीन मानेगा।
D. जीन पियाजे और लेव याइगोत्स्की इसकी व्याख्या बच्चे के द्वारा अपनी – माँ के अनुकरण के रूप में करेंगे।

30. ‘लिंग’ है :
A. जैविक सत्ता
B. शारीरिक संरचना
C. सहज गुण
D. सामाजिक संरचना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!