CTET September 2015 – Paper – I (Child Development and Pedagogy) Answer Key

CTET September 2015 – Paper – I (Child Development and Pedagogy) Answer Key

55 mins read

परीक्षा (Exam) – CTET Paper I Primary Level (Class I to V)
भाग (Part) – Part – I – बाल विकास और शिक्षाशास्त्र (Child Development and Pedagogy)
परीक्षा आयोजक (Organized) – CBSE
कुल प्रश्न (Number of Question) – 30
परीक्षा तिथि (Exam Date) – September 2015 (Morning Shift)


निर्देशः सबसे उचित विकल्प चुनकर निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए।

1. बच्चों में ज्ञान की रचना करने और अर्थ का निर्माण करने की क्षमता होती है। इस परिप्रेक्ष्य में एक शिक्षक की भूमिका है:.
A. संप्रेषक और व्याख्याता की
B. सुगमकर्ता की
C. निर्देशक की
D. तालमेल बैठाने वाले की

2. इनमें से कौन-सी विशेषता प्रतिभाशाली बच्चों की नहीं है?
A. उच्च आत्म क्षमता
B. निम्न औसतीय मानसिक प्रक्रियाएँ
C. अंतर्दृष्टिपूर्वक समस्याओं का समाधान करना
D. उच्चतर श्रेणी की मानसिक प्रक्रियाएँ

3. कोहलबर्ग के सिद्धान्त के पूर्व-परम्परागत स्तर के अनुसार, कोई . नैतिक निर्णय लेते समय एक व्यक्ति निम्नलिखित में से किस तरफ प्रवृत्त होगा?
A. व्यक्तिगत आवश्यकताएँ तथा इच्छाएँ।
B. व्यक्तिगत मूल्य
C. पारिवारिक अपेक्षाएँ
D. अंतर्निहित संभावित दंड

4. शिक्षार्थियों (अधिगमकता) की वैयक्तिक विभिन्नताओं के संदर्भ में शिक्षिका को चाहिए :
A. निगमनात्मक पद्धति के आधार पर समस्याओं का समाधान करना
B. कलनविधि (एल्गोरिथ्म) का अधिकतर प्रयोग करना
C. याद करने के लिए शिक्षार्थियों को तथ्य उपलब्ध कराना
D. विविध प्रकार की अधिगम परिस्थितियों को उपलब्ध कराना

5. निम्नलिखित में से कौन-सा बाल-विकास का एक सिद्धान्त नहीं है?
A. विकास के सभी क्षेत्र महत्वपूर्ण हैं
B. सभी विकास परिपक्वन तथा अनुभव की अंतःक्रिया का परिणाम होते हैं
C. सभी विकास तथा अधिगम एक समान गति से आगे बढ़ते हैं –
D. सभी विकास एक क्रम का पालन करते हैं

6. निम्नलिखित में से कौन-सा आकलन करने का सर्वाधिक उपयुक्त तरीका है?
A. आकलन शिक्षण-अधिगम में अंतर्निहित प्रक्रिया है।
B. आकलन एक शैक्षणिक सत्र में दो बार करना चाहिए-शुरू में – और अंत में
C. आकलन शिक्षक द्वारा नहीं बल्कि किसी बाह्य एजेन्सी के द्वारा ‘कराना चाहिए।
D. आकलन सत्र की समाप्ति पर करना चाहिए

7. निम्नलिखित में से कौन-सा सृजनात्मकता से सम्बन्धित है?
A. अभिसारी चिन्तन
B. सांवेगिक चिन्तनः
C. अहंवादी चिन्तन
D. अपसारी चिन्तन

8. बच्चों के बारे में निम्नलिखित कथनों में से किस कथन से बाइगोत्स्की सहमत होते?
A. बच्चे तब सीखते हैं जब उनके लिए आकर्षक पुरस्कार निर्धारित किए जाएँ
B. बच्चों के चिंतन को तब समझा जा सकता है जब प्रयोगशाला में, – पशुओं पर प्रयोग किए जाएँ
C. बच्चे जन्म से शैतान होते हैं और उन्हें दंड देकर नियंत्रित किया जाना चाहिए
D. बच्चे समवयस्कों और वयस्कों के साथ सामाजिक अंतःक्रियाओं के माध्यम से सीखते हैं

9. बच्चेः
A. चिंतन में वयस्कों की भाँति ही होते हैं और ज्यों-ज्यों वे बड़े होते हैं उनके चिंतन में गुणात्मक वृद्धि होती है ।
B. रीते बरतन के समान होते हैं जिसमें बड़ों के द्वारा दिया गया ज्ञान द भरा जाता है
C. निष्क्रिय जीव होते हैं जो प्रदत्त सूचना को ज्यों-की-त्यों प्रतिलिपि के रूप में प्रस्तुत कर देते हैं ।
D. जिज्ञासु प्राणी होते हैं जो अपने चारों ओर के जगत को खोजने के लिए अपने ही तों और क्षमताओं का उपयोग करते हैं

10. बच्चों की त्रुटियों के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सत्य
A. बच्चों की त्रुटियाँ उनके सीखने की प्रक्रिया का अंग हैं
B. बच्चे तब त्रुटियाँ करते हैं जब शिक्षक सौम्य हो और उन्हें त्रुटियाँ करने पर दंड न देता हो
C. बच्चों की त्रुटियाँ शिक्षक के लिए महत्वहीन हैं और उसे चाहिए कि उन्हें काट दे और उन पर अधिक ध्यान न दे
D. असावधानी के कारण बच्चे त्रुटियाँ करते हैं

11. अध्यापक को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उसकी कक्षा के सभी शिक्षार्थी अपने आपको स्वीकृत और सम्मानित समझें। इसके लिए शिक्षक को चाहिए कि वह :
A. वंचित पृष्ठभूमि से आने वाले बच्चों का तिरस्कार करे ताकि वे अनुभव करें कि उन्हें अधिक कठोर परिश्रम करना है
B. उन शिक्षार्थियों का पता लगाए जो अच्छी अंग्रेजी बोल सकते हों और संपन्न घरों से हों तथा उन्हें आदर्श के रूप में प्रस्तुत करे
C. अपनेशिक्षार्थियोंकी सामाजिक और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि की जानकारी प्राप्त करे और कक्षा में विविध मतों को प्रोत्साहित करे
D. कड़े नियम बनाए और जो बच्चे उनका पालन न करें उन्हें दंड

12. सुरेश सामान्य रूप से एक शांत कमरे में अकेले पढ़ना चाहता है, जबकि मदन एक समूह में अपने मित्रों के साथ पढ़ना चाहता है। यह उनके ………………. में विभिन्न के कारण है।
A. अभिक्षमता..
B. अधिगम शैली ..
C. परावर्तकता-स्तर
D. मूल्यों

13. भारत में भाषिक विभिन्नता बहुत है। इस संदर्भ में विशेषकर कक्षा – I और II के प्राथमिक स्तर पर बहुभाषिक कक्षाओं के बारे में सर्वचा से उपयुक्त कथन है:
A विद्यालय में उन्हीं बच्चों को प्रवेश दिया जाए जिनकी मातृभाषा वही हो जो शिक्षा के लिए अपनाई जा रही हो
B. शिक्षक को सभी भाषाओं का सम्मान करना चाहिए और सभी भाषाओं में अभिव्यक्ति के लिए बच्चों को प्रोत्साहित करना
C. जो बच्चे कक्षा में मातृभाषा का उपयोग करते हैं अध्यापक को – उनकी उपेक्षा करनी चाहिए
D. शिक्षार्थियों को अपनी मातृभाषा या स्थानीय भाषा का प्रयोग करने पर दंडित किया जाए।

14. ‘प्रकृति-पोषण’ विवाद में ‘प्रकृति’ से क्या अभिप्राय है।
A. जैविकीय विशिष्टताएँ या वंशानुक्रम सूचनाएँ
B. एक व्यक्ति की मूल वृत्ति
C. भौतिक और सामाजिक संसार की जटिल शक्तियाँ
D हमारे आस-पास का वातावरण

15. “जन-संचार माध्यम समाजीकरण का एक महत्त्वपूर्ण माध्यम जा रहा है।” नीचे दिए गए कथनोंमें से कौन-सा सबसे उपयुक्त कथन है?
A. समाजीकरण केवल माता-पिता और परिवार के द्वारा किया जाता है
B. जन-संचार माध्यमों की पहुँच बढ़ रही है और जन-संचार माध्यम अभिवृत्तियों, मूल्यों और विश्वासों को प्रभावित करता है।
C. बच्चे संचार माध्यमों के साथ प्रत्यक्ष रूप से अंतःक्रिया नहीं कर सकते हैं
D. संचार माध्यम पदार्थों के विज्ञापन और विक्रय के लिए एक अच्छा माध्यम है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous Story

CTET February 2016 – Paper – I (Child Development and Pedagogy) Answer Key

Next Story

जंगुबाई गुफा मंदिर और कपलाई गुफाएँ

error: Content is protected !!