CTET November 2012 – Paper – I (Mathematics) Answer Key

53 mins read

परीक्षा (Exam) – CTET Paper I Primary Level (Class I to V)
भाग (Part) – Part – II गणित (Mathematics)
परीक्षा आयोजक (Organized) – CBSE
कुल प्रश्न (Number of Question) – 30
परीक्षा तिथि (Exam Date) – November 2012


निर्देशः निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर देने के लिए सबसे उचित विकल्प चुनिए।

31. कक्षा III का बच्चा 482 को चार सौ बयासी पढ़ता है लेकिन 40082 लिखता है। यह शिक्षक के लिए किस ओर संकेत करता है?
A. शिक्षक को स्थानीय मान विषय तब ही पढ़ाना चाहिए जब बच्चे संख्याओं को भली प्रकार लिखना सीख जाएँ B. बच्चा कक्षा में एकाग्र नहीं है और ध्यान से नहीं सुनता ।
C. बच्चा ध्यान से सुनता है लेकिन स्थानीय मान की समझ स्थापित नहीं कर पाया है
D. बच्चा संख्या की अभिव्यक्ति के विस्तारित रूप और लघु रूप में भ्रमित है

32. शैलजा विभिन्न तरीकों से संख्या को व्यक्त कर सकती है। उदाहरण के लिए 432+2 अथवा 4= 1+3 आदि । वह संख्या की किस विकासात्मक अवस्था पर है?
A. संक्रिया-अवस्था
B. परिमाणात्मक अवस्था
C. विभाजनात्मक अवस्था
D. गुणनखंडीय अवस्था

33. 10 मीटर लंबाई वाले एक वर्गाकार कमरे के फर्श को वर्गाकार टाइलों से पूर्णतया ढकना है। यदि प्रत्येक टाइल की लंबाई 50 सेंटीमीटर हो, तो आवश्यक टाइलों की न्यूनतम संख्या है
A. 500
B. 200
C. 300
D. 400

4. एक संतरे का मूल्य ढाई रुपया है। साढ़े तीन दर्जन संतरों का मूल्य क्या होगा?
A. ₹ 120
B. ₹ 190
D. ₹ 112
C. ₹ 105

35. एक चाकलेट के 12 बराबर भाग हैं। मंजू ने इसका एक-चौथाई भाग अंजू को, इसका एक-तिहाई भाग सुजाथा को और इसका एक-छठा भाग फिजा को दे दिया। मंजू के पास अब चाकलेट के बचे भाग हैं
A. 4
B. 1
C. 2
D. 3

36. गुणनफल 140 x 101 में क्या जोड़ा जाए जिससे कि 14414 प्राप्त हो?
A. 364
B. 264
C. 274
D. 278

37. दो वर्गों के परिमाप 12 सेमी तथा 24 सेमी हैं। बड़े वर्ग का क्षेत्रफल छोटे वर्ग के क्षेत्रफल का कितने गुना है? A. 5 गुना
B. 2 गुना
C. 3 गुना
D. 4 गुना

38. संख्या 100 के सभी गुणनखंडों का योगफल है
A. 223
B. 115
C. 216
D. 217

39. (12 और 16 का न्यूनतम सार्च गुणज) x (10 और 15 का न्यूनतम – सार्व गुणज) बराबर है
A. 480
B. 960
C. 720
D. 1440

40. 2424 में 2 के स्थानीय मानों का योगफल है
A. 2020
B. 4
C. 220
D. 2002

41. कक्षा III में दो-अंकीय संख्याओं के व्यवकलन को प्रस्तुत करने के लिए शिक्षक निम्नलिखित चरणों का अनुगमन करता है :
चरण I : स्थानीय मान व्यवस्था की समझ के साथ दो-अंकीय संख्याओं की पुनरावृत्ति करना।
चरण II : यह प्रदर्शित करने के लिए कि छोटी संख्या को बड़ी संख्या से घटाया जा सकता है टैली चिन्हों का प्रयोग करना।
चरण III : स्थानीय मान के प्रत्येक कॉलम के अंतर्गत संख्याओं के व्यवकलन का अनुप्रयोग करना। इस स्थिति में शिक्षक ……… से पाठ का विकास कर रहा है।
A. व्यवस्था-संकल्पना → परिकल्पना-प्रक्रिया → संक्रिया
B. व्यवस्था-संकल्पना → संक्रिया → परिकलन-प्रक्रिया
C. संक्रिया → व्यवस्था-संकल्पना → परिकलन-प्रक्रिया
D. परिकलन-प्रक्रिया → व्यवस्था-संकल्पना → संक्रिया

42. विद्यार्थियों से ऊर्ध्वाधर सम्मुख कोणों के मध्य संबंध स्थापित करने के लिए कहा जाता है। वे कई आकृतियाँ खींचते हैं, कोणों को मापते हैं और यह देखते हैं कि ऊर्ध्वाधर सम्मुख कोण समान हैं। । इस केस में, वेन हिले के विचार के अनुसार विद्यार्थी
A. निगमन स्तर पर हैं
B. चाक्षुषीकरण के स्तर पर हैं
C. विश्लेषणात्मक स्तर पर हैं।
D. अनौपचारिक निगमन स्तर पर हैं

43. कक्षा IV में बिंदु और रेखा पर ज्यामितीय पाठ के लिए आकलन निर्देश होंगे
A. रेखा, किरण और रेखाखंड में अंतर कर सकता है और उन्हें – परिभाषित कर सकता है
B. रेखा और रेखाखंड में अंतर कर सकता है, बिंदु चिन्हित कर सकता है, दी गई लंबाई के अनुसार परिशुद्ध रूप से रेखाखंड खींच सकता है
C. सेमी और इंचों में रेखा को परिशुद्ध रूप से माप सकता है, रेखा का नाम बता सकता है .
D. परिशुद्ध रूप से सेमी और इंचों में रेखाखंड को माप सकता है और रेखाखंड के अंतः बिंदुओं को चिन्हित कर सकता है

44. “किन दो संख्याओं को गुणा करने पर 24 गुणनफल प्राप्त होगा?” यह प्रश्न
A. अघिसंज्ञानात्मक रूप से चिंतन करने में बच्चे की सहायता करता
B. मुक्त-अंत वाला प्रश्न है क्योंकि इसके एक से अधिक उत्तर हैं
C. बद्ध-अंत वाला प्रश्न है क्योंकि इसके निश्चित संख्या में उत्तर
D. बच्चे को सामान्य समस्या समाधान रणनीतियों को सुझाता है ताकि वह सही उत्तर दे सके

45. कक्षा में शिक्षिका विद्यार्थियों को विभिन्न प्रकार से चतुर्भज को परिभाषित करने के लिए कहती है, जैसे भुजाओं का प्रयोग, कोणों का प्रयोग, विकर्णों का प्रयोग आदि। शिक्षिका का उद्देश्य है संस्थाओं को की सहायता कर में विद्यार्थियों है
A. परिभाषाओं पर आधारित चतुर्भुज की सभी समस्याओं करने में विद्यार्थियों की सहायता करना
B. विभिन्न परिभाषाओं को खोजने में विद्यार्थियों की सह
C. विभिन्न परिप्रेक्ष्यों से चतुर्भुज को समझने में विद्यामि सहायता करना
D. सभी परिभाषाओं को कंठस्थ करने में विद्यार्थियों की सहायता करना.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!