CTET June 2011 – Paper – I (Hindi Language) Answer Key

52 mins read

निर्देशः कविता की पंक्तियाँ पढ़कर निम्नलिखित प्रश्नों (प्र. सं. 106 से 111) में सबसे उचित विकल्प चुनिए।

अब न गहरी नींद में तुम सो सकोगे, गीत गाकर मैं जगाने आ रहा हूँ। अतल अस्ताचल तुम्हें जाने न दूंगा, अरुण उदयाचल सजाने आ रहा हूँ।
कल्पना में आज तक उड़ते रहे तुम, साधना से सिहरकर मुड़ते रहे तुम। अब तुम्हें आकाश में उड़ने न दूंगा, आज धरती पर बसाने आ रहा हूँ।
                                                                                                                               सोहनलाल द्विवेदी

106. गहरी नींद में सोने का अर्थ है
A. मृत्यु को प्राप्त होना
B. परिश्रमी होना
C. बेखबर होना
D. चिंतायुक्त होना

107. कवि लोगों को कहाँ नहीं जाने देगा?
A. पाताल में
B. अतल गहराई में
C. जहाँ सूर्य अस्त होता है
D. पतन की राह पर

108. कवि किस तरह के व्यक्तियों को संबोधित कर रहा है?
A. जो अत्यधिक प्रेरित हैं
B. जो बहुत परिश्रमी हैं
C. जो जीवन की कठोर वास्तविकताओं से बेखबर हैं
D. जो आकाश की ऊँचाइयों को छूना चाहते हैं

109. कवि लोगों को क्यों जगाना चाहता है? ..
A. ताकि लोग गीत सुन सकें
B. ताकि मनुष्यों में गतिशीलता आ सके और वे प्रगति के पथ पर आगे बढ़ सकें
C. सुबह हो गई है
D. यह कवि का दायित्व है

110. ‘अतल अस्ताचल तुम्हें जाने न दूंगा’ पंक्ति में कौन-सा अलंकार है।
A श्लेष अलंकार
B. उपमा अलंकार
C. रूपक अलंकार
D. अनुप्रास अलंकार

111. कविता का उपयुक्त शीर्षक हो सकता है
A हर्ष
B. कोलाहल
C. आकाश
D. जागृति

निर्देशः गद्यांश को पढ़कर निम्नलिखित प्रश्नों (प्र. सं. 112 से 120) में सबसे उचित विकल्प चुनिए।

मनु बहन ने पूरे दिन की डायरी लिखी, लेकिन एक जगह लिख दिया. “सफाई वगैरह की।”

गाँधीजी प्रतिदिन डायरी पढ़कर उस पर अपने हस्ताक्षर करते थे। आज की डायरी पर हस्ताक्षर करते हुए गाँधीजी ने लिखा, “कातने की गति का हिसाब लिखा जाए। मन में आए हुए विचार लिखे जाएँ। जो-जो पढ़ा हो. उसकी टिप्पणी लिखी जाए। ‘वगैरह’ का उपयोग नहीं होना चाहिए। डायरी में ‘वगैरह’ शब्द के लिए कोई स्थान नहीं है।”

जिसने जो पढ़ा हो, वह लिखा जाए। ऐसा करने से पढ़ा हुआ कितना पच गया है, यह मालूम हो जाएगा। जो बातें हुई हों वे लिखी जाएँ। मनु ने अपनी गलती का अहसास किया और डायरी विधा की पवित्रता को समझा।

गाँधीजी ने पुनः मनु से कहा- “डायरी लिखना आसान कार्य नहीं है। यह इबादत करने जैसी विधा है। हमें शुद्ध व सच्चे रूप से प्रत्येक छोटी-बड़ी घटना को निष्पक्ष रूप से लिखना चाहिए चाहे कोई बात हमारे विरुद्ध ही क्यों न जा रही हो। इससे हममें सच्चाई स्वीकार करने की शक्ति प्राप्त होगी।”
                                                                                                                (गाँधीजी के रोचक संस्मरण)

112. मनु को अपनी किस गलती का अहसास हुआ?
A. उन्होंने गाँधीजी की बात नहीं मानी थी
B. मनु ने डायरी में कातने की गति का हिसाब लिखा था
C. उन्होंने डायरी में सही-सही बातें लिखी थीं
D. उन्होंने डायरी में ‘वगैरह’ शब्द का प्रयोग किया था

113. गाँधीजी ने ‘वगैरह’ शब्द पर अपनी आपत्ति क्यों जताई?
A. ‘वगैरह’ शब्द की जगह ‘आदि’ शब्द का प्रयोग सही है
B. गाँधीजी चाहते थे कि सही भाषा का प्रयोग हो
C. ‘वगैरह’ शब्द में कार्य और विचार की स्पष्टता नहीं है
D. वे चाहते थे कि बातों को ज्यों-का-त्यों लिखा जाए

114. गाँधी ने डायरी लिखने को इबादत करने-जैसा क्यों कहा है?
A. दोनों में समय लगता है .
B. दोनों कार्य हमारे कर्तव्यों में शामिल हैं
C. दोनों कार्य रोज किए जाते हैं ।
D. दोनों में सच्चाई और ईमानदारी चाहिए

115. डायरी लिखना इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि
A इसमें व्यक्ति स्वयं का विश्लेषण करता है और स्व-मूल्यांकन भी करता है
B. इससे व्यक्ति पूरे दिन किए गए जमा-खर्च का हिसाब-किताब कर सकता है
C. गाँधीजी इसे महत्वपूर्ण मानते हैं
D. इससे व्यक्ति का समय अच्छा गुजर जाता है

116. गाँधीजी प्रतिदिन डायरी पढ़कर क्या करते थे?
A. हस्ताक्षर करते थे क्योंकि यह नियम था
B. लोगों को उनकी गलती का अहसास कराते थे
C. डायरी पर हस्ताक्षर करते थे और यह देखते थे कि व्यक्ति अपने कार्य और विचार में किस दिशा में जा रहा है।
D. हस्ताक्षर करते थे ताकि जाँच का प्रमाण दिया जा सके

117. ‘प्रतिदिन’ शब्द में कौन-सा समास है?
A. द्वंद्व समास
B. अव्ययीभाव समास
C. द्विगु समास
D. तत्पुरुष समास

118. ‘पढ़ा हुआ कितना पच गया है’ का अर्थ है
A. कितना सही उच्चारण के साथ पढ़ा है
B. पढ़े हुए का कितना विश्लेषण किया है
C. पढ़ा हुआ कितना समझ में आया है
D. पढ़ा हुआ कितना आत्मसात् किया है

119. ‘कार्य’ शब्द का तद्भव रूप बताइए।
A. सेवा
B. कारज
C. काज
D. काम

120. ‘विचार’ में इक प्रत्यय लगाकर शब्द बनेगा
A. वैचारीक
B. विचारिक
C. विचौरिक
D. वैचारिक

Leave a Reply

Your email address will not be published.