CTET February 2015 – Paper – I (Mathematics) Answer Key

54 mins read

परीक्षा (Exam) – CTET Paper I Primary Level (Class I to V)
भाग (Part) – Part – II गणित (Mathematics)
परीक्षा आयोजक (Organized) – CBSE
कुल प्रश्न (Number of Question) – 30
परीक्षा तिथि (Exam Date) – February 2015


निर्देशः निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर देने के लिए सबसे उचित विकल्प चुनिए।

31. निम्नलिखित में से कौन-सा सही नहीं है?
A. 3 घंटे 14 मिनट = 194 मिनट
B. 2 किलोग्राम 30 ग्राम = 2030 ग्राम
C. 3 लीटर 80 मिलीलीटर = 380 मिलीलीटर
D. 10 सेंटीमीटर भुजा वाले वर्ग का क्षेत्रफल = 100 सेंटीमीटर लम्बाई तथा 0.01 मीटर चौड़ाई वाले आयत का क्षेत्रफल

32. 110111 को 11 से भाग देने पर प्राप्त भागफल व शेषफल का योगफल है।
A. 11011 .
B. 11001
C. 10101
D. 10011

33. गुणनफल 102 x 201 में से क्या घटाया जाए ताकि 19999 प्राप्त हो?
A. 503
B. 602
C. 103
D. 401

34. दो और दो-तिहाई समकोणों में डिग्रियों की संख्या है।
A. 240
B. 270
C. 180
D. 210

35. एक लीटर जूस का डिब्बा घनाभ आकृति का है और उसका आधार वर्गाकार, जिसकी माप 8×8 सेमी है। डिब्बे में जूस की गहराई (सेंटीमीटर में) किसके अधिक समीप होगी?
A. 20
B. 22
C. 16
D. 18

36. निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा कथन सही है?
A. तीन विषम संख्याओं का गुणनफल एक सम संख्या है
B. एक सम संख्या और एक विषम संख्या का अन्तर एक सम संख्या हो सकता है .
C. दो विषम संख्याओं और एक सम संख्या का योगफल एक । सम संख्या है
D. तीन विषम संख्याओं का योगफल एक सम संख्या है

37. 6251,6521 और 5621 में 5 के स्थानीय मानों का योगफल है
A. 550.
B. 15
C. 5550
D. 5050

38. प्राथमिक स्तर पर टेनग्राम, बिन्दु के खेल, प्रतिरूप, इत्यादि का प्रयोग विद्यार्थियों की सहायता करते हैं
A. मूलभूत संक्रियाओं को समझने में
B. स्थानिक समझ की योग्यता में वृद्धि के लिए।
C. संख्याओं की तुलना का बोध विकसित करने में
D. परिकलन कौशलों के संवर्द्धन में

39. निम्नलिखित में से कौन-सा प्राथमिक स्तर पर गणित शिक्षण की पाठ्यचर्या अपेक्षाओं के साथ मेल नहीं खाता है?
A. भिन्न को पूर्ण के अंश के रूप में प्रदर्शित करना तथा सरल भिन्नों को व्यवस्थित करना
B. वर्गीकृत आंकड़ों के निरूपण का विश्लेषण करना तथा निष्कर्ष निकालना
C. दैनिक जीवन की तार्किक कार्यप्रणाली तथा गणितीय सोच के बीच संयोजन का विकास
D. मानक परिकलन प्रणाली से संख्या-सम्बन्धी संक्रियाओं के करने में भाषा और प्रतीक चिहों का विकास

40. गणित की शिक्षा का मुख्य ध्येय है :
A. ज्यामिति के प्रमेयों और उनके प्रमाणों का स्वतंत्र रूप से सृजन करना
B. विद्यार्थियों को गणित समझने में सहायता करना
C. उपयोगी क्षमताओं को विकसित करना
D. बच्चों की गणितीय प्रतिभाओं का विकास करना

41. एक शिक्षिका गणित के संप्रत्ययों को सिखाते हुए खोजपरक उपागम का उपयोग करती है, विद्यार्थियों की व्यवहारिक क्षमताओं का उपयोग करती है और उन्हें चर्चा में शामिल करती है। वह इस युक्ति का प्रयोग किसलिए करती है?
A. गणित शिक्षण के उच्चतर उद्देश्य की प्राप्ति के लिए
B. विद्यार्थियों में व्यवहारिक क्षमताओं के विकास के लिए,
C. एक निश्चित प्रकार की सोच व तार्किकता विकसित करने के लिए
D. गणित शिक्षण के संकीर्ण उद्देश्य की प्राप्ति के लिए

42. एक शिक्षिका कक्षा V की शैलजा से एक आकृति के परिमाप के बारे में पूछती है। वह शैलजा से उसके हल को अपने शब्दों में बताने को भी कहती है। शैलजा समस्या का सही हल करने में सक्षम थी परन्तु उसकी व्याख्या करने में सक्षम नहीं थी। यह शैलजा की निम्न विशेषता प्रदर्शित करता
A. कम आत्मविश्वास स्तर तथा कम गणितीय कौशल
B. परिमाप के संप्रत्यय की कम समझ परन्तु अच्छी मौखिक योग्यता
C. निम्न स्तरीय भाषा प्रवीणता और निम्न स्तरीय गणितीय प्रवीणता
D. निम्न स्तरीय भाषा प्रवीणता और उच्च स्तरीय गणितीय प्रवीणता में विभिन्न प्रकरणों में खण्ड ‘अभ्यास समय

43. गणित की पाठ्य-पुस्तक में विभिन्न प्रकरणों में खंड “अभ्यास समय” को समावेशित करने का उद्देश्य है :
A विद्यार्थियों को आनन्द व मस्ती प्रदान करना
B. दैनिक जीवनचर्या में बदलाव करना
C. समय का बेहतर सदुपयोग सुनिश्चित करना
D. विस्तृत अधिगम अवसर प्रदान करना

44. प्राथमिक अवस्था में गणित में रचनात्मक मूल्यांकन में अन्तर्निहित
A. अधिगम में असंगति को और शिक्षण में कमियों को पहचान
B. सामान्य त्रुटियों को पहचानना।
C. क्रियाप्रणाली के ज्ञान और विश्लेषणात्मक प्रतिभाओं की परीक्षा
D. विद्यार्थियों के ग्रेड (श्रेणी) और रैंक (स्थिति)।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!