उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य (Part 19)

कोठार बांध का निर्माण अल्मोड़ा जिले में कोसी नदी पर निर्मित किया गया है। चूना पत्थर (Limestone) उत्तराखंड में सर्वाधिक मात्रा में पाया जाने वाला खनिज पदार्थ है। आचार्य श्री राम शर्मा

उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य (Part 18)

मूलरूप से गंगोली हाट के निवासी भगवान सिंह रौतेला को उनके अदम्य साहस के लिए सेना मेडल से सम्मानित किया गया है। वर्ष 1977 में उत्तराखंड में वनों की नीलामी के विरोध

उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य (Part 17)

डा. भक्त दर्शन द्वारा रामतीर्थ स्मृति तथा सुमन स्मृति ग्रंथ की रचना की गयी थी। हेमवती नंदन बहुगुणा द्वारा इंडियन नाइस नामक पुस्तक की रचना की गयी थी। चंडी प्रसाद भट्ट द्वारा दाल्यो

उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य (Part 16)

काली नदी कुमाऊं मंडल की सबसे बड़ी नदी है, जिसे नेपाल में शारदा नदी के नाम से जाना जाता है। काली नदी का उद्भव उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जनपद में 3,600 मीटर की

उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य (Part 15)

चंद वंश के शासक बाजबहादुर चंद  ने राजा के पद को दैवीय तथा खुद का नाम भी नारायण रखा था। चंद वंश के शासक इन्द्रचंद द्वारा कुमाऊं में रेशम का व्यापार स्थापित

उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य (Part 14)

लाखु उडियार (LakhuUdiyar) अल्मोड़ा में सुयाल नदी के तट पर स्थित है। सुयाल नदी को प्राचीन काल में शाल्मली नदी के नाम से जाना जाता था। माता सुखरौ देवी का मंदिर उत्तराखंड

महाराणा प्रताप (Maharana Pratap)

जन्म – 9 मई 1540, कुम्भलगढ़ किला निधन – 19 जनवरी 1597, चावंड ऊँचाई – 2.26 मीटर बच्चे – अमर सिंह प्रथम, कुंवर दुर्जन सिंह, कुंवर पूरन मल, माता पिता – उदय

गोपाल कृष्ण गोखले (Gopal Krishna Gokhale)

जन्म – 9 मई 1866, बॉम्बे प्रेसीडेंसी निधन – 19 फरवरी 1915, मुंबई पुस्तकें – गोपाल कृष्ण गोखले के भाषण और लेखन, गोपाल कृष्ण गोखले: भाषण और लेखन का चयन करें शिक्षा

उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य (Part 13)

इंडियन मेडिसिन फार्मास्युटिकल लिमिटेड (Indian Medicine Pharmaceutical Limited), मोहान (अल्मोड़ा) में स्थित है। ऐबट पर्वत (Abbott Mountains) उत्तराखंड के चंपावत जिले में स्थित है।    उत्तराखंड में पाए जाने वाले रोज जिरेनियम

उत्तराखंड से संबंधित प्रमुख तथ्य (Part 11)

चंद वंश का शासक मोहन चंद शासक दो बार कुमाऊं का शासक बना। खटीमा का प्राचीन नाम मकरपुर था। उत्तराखंड के पौड़ी-गढ़वाल जिले में प्रत्येक वर्ष संगलाकोटी मेला लगता है। अखिल तारणी

1 2 3 4 5 13