आनुवंशिकता (Heredity)

‘आनुवंशिक’ शब्द का सर्वप्रथम उपयोग वेटसन द्वारा वर्ष 1906 में किया गया था। प्रत्येक जीव में बहुत से ऐसे गुण होते हैं जो पीढ़ी-दर-पीढ़ी माता-पिता से उनकी संतानों में संचारित होते रहते

आनुवंशिकी की महत्वपूर्ण शब्दावलियां (Important Glossaries of Genetics)

एलील (Allele) – वे जीन जो लक्षण को नियंत्रित करते हैं, एलील कहलाते हैं। ये जोड़े में होते हैं एवं प्रत्येक जीन एक-दूसरे का एलील कहलाता है। दोनों जीन मिलकर युग्म विकल्पी

जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक

जीव विज्ञान की शाखा वैज्ञानिक जन्तु विज्ञान (Zoology / Animal Biology) अरस्तु (Aristotle) आनुवंशिकी विकिरण जी जे मेण्डल आनुवंशिकी एच जे मुलर तुलनात्मक रचना जी क्यूवियर आधुनिक आनुवंशिकी बेटसन जीरोन्टोनोलॉजी वाल्डिमिर कोरनेचेवस्की

कोशिका विभाजन (Cell Division)

प्रत्येक जीव का जन्म एककोशीय युग्मज (युग्मनज) से होता है। इन एककोशीय कोशिका का विभाजन होने से शरीर की अन्य कोशिकाओं का निर्माण होता हैं। एककोशीय युग्मज (युग्मनज) का विभाजन हुए बिना इतने

जीवों के तुलनात्मक अंग

प्रत्येक जीव के अंगों को तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है – समजात अंग  (Homologous Organs) समरूप अंग  (Analogous Organs) अवशेषी अंग  (Vestigial Organs) समजात अंग (Homologous Organs) –  वह अंग, जो विभिन्न

जैव विकास तथा जैव विकास के सिद्धांत (Bio evolution and theories of Bio evolution)

थियोडोसियस डोबहास्की (Theodosius Dobahsky) के अनुसार जीव विज्ञान (Biology) का अर्थ क्रमिक विकास में है। जैव विकास एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में होने वाला आनुवंशिक (Genetic) परिवर्तन है। पृथ्वी के प्रारंभ

पादप कोशिका तथा प्राणी कोशिका में अंतर

प्राणी कोशिका प्राणी कोशिका में कोशिका भित्ति अनुपस्थित होती है। यह केवल प्लाज्मा झिल्ली से घिरी रहती है। इसमें क्लोरोप्लास्ट नहीं होते हैं। सेंट्रोसोम एवं तारक केंद्र होते हैं। यह आकार में छोटी

कोशिका संरचना और कोशिका के अंग

प्लाज्मा झिल्ली (Plasma membrane) यह झिल्ली पदार्थों के भीतर आने या बाहर जाने पर नियंत्रण रखती है। यह झिल्ली प्रोटीन एवं लिपिड की बनी होती है। कोशिका द्रव्य (Cytoplasm) यह कोशिका के

कोशिका (Cell)

कोशिका जीवन की आधारभूत संरचनात्मक एवं कार्यात्मक इकाई है। कोशिका में प्रायः स्वजनन (Self reproduction) की क्षमता होती है। पौधों एवं जीवों में कोशिकाओं की आकृति, माप व संख्याएं भिन्न-भिन्न होती हैं।

1 3 4 5