मध्य प्रदेश – वनों का भौगोलिक वर्गीकरण

मध्य प्रदेश में मानसूनी प्रकार की जलवायु होने के कारण मध्य प्रदेश में अधिकांशतः मानसूनी प्रकार के वन पाए जाते हैं, किंतु मृदा, जलवायु, वर्षा एवं तापमान में विविधता के कारण यहाँ

मध्य प्रदेश राज्य वन नीति (Madhya Pradesh Forest Policy)

वर्ष 1956 में मध्य प्रदेश के गठन के पश्चात राज्य द्वारा पूरे देश में पहले से ही लागू 1952 की राष्ट्रीय वन नीति को ही मध्य प्रदेश में भी लागू किया गया।

मध्य प्रदेश के प्रमुख लोक साहित्यकार

संत सिंगाजी (Sant singaji) जन्म – वर्ष 1576 (ग्राम खजूरी, बड़वानी जिला) मृत्यु स्थान – नर्मदा नदी के समीप संत सिंगाजी, कबीर के समकालीन तथा उनके सामान ही निर्गुण भक्ति धारा के

मध्य प्रदेश – मध्यकालीन साहित्यकार एवं उनकी रचनाएँ

आचर्य केशवदास (Acharya Keshavdas) जन्म – वर्ष 1555 (ओरछा) मृत्यु – वर्ष 1617 आचार्य केशवदास ओरछा नरेश इंद्रजीत सिंह के दरबारी कवि थे, जिनकी रचनाएँ पूर्णतः रीतिबद्ध व शास्त्रीय हैं। केशवदास हिंदी

मध्य प्रदेश – प्राचीनकालीन साहित्यकार एवं उनकी रचनाएँ

महाकवि कालिदास (Mahakavi Kalidas) महाकवि कालिदास उज्जैन के राजा विक्रमादित्य के नवरत्नों में से एक थे हैं। इन्हें भारत का शेक्सपियर (Shakespeare of India) भी कहा जाता है, इनके द्वारा रचित अभिज्ञान

मध्य प्रदेश में पाए जाने वाले प्रमुख खनिज संसाधन

मध्य प्रदेश में खनिज भंडार प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं। जिनका मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था (economy) एवं औद्योगिक प्रगति (industrial progress) में महत्त्वपूर्ण योगदान है। यहाँ खनिजों का वितरण विशिष्ट शैल समूहों

मध्य प्रदेश के प्रमुख कोयला क्षेत्र

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोयले (Coal) के भंडार प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं। जो मुख्यत: गोंडवाना शैल समूह (Gondwana Shale Group) में पाया जाता है। मध्य प्रदेश में निम्नलिखित प्रकार का

मध्य प्रदेश – राज्य खनिज नीति, (2010)

मध्य प्रदेश की नई खनिज नीति के अंतर्गत सरकारी विभागों को खनिजों के सर्वेक्षण के लिए आधुनिक प्रौद्योगिकी (modern technology ) से प्रशिक्षित किया जाएगा तथा इस कार्य में निजी सहभागिता (private

मध्य प्रदेश — शिक्षा, रोज़गार एवं कौशल विकास संबंधी योजनाएँ

प्रतिभा किरण योजना प्रतिभा किरण योजना का प्रारंभ वर्ष 2008-09 में किया गया। इस योजना का उद्देश्य शहरी क्षेत्र में गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाले परिवारों के मेधावी विद्यार्थियों के

मध्य प्रदेश — अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण संबंधित योजनाएँ

कन्या साक्षरता प्रोत्साहन   कन्या साक्षरता प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत अनुसूचित जनजाति की बालिकाओं में शिक्षा के प्रोत्साहन हेतु 5वीं  कक्षा, 8वीं  कक्षा एवं 10वीं कक्षा की परीक्षा उर्तीण कर अगली कक्षा में प्रवेश लेने

1 2 3